13 June 2024
सीएचसी दरिमा के अधीन स्वास्थ्य कर्मियों को पिछले तीन माह से वेतन नहीं, कर्मचारियों में नाराज़गी
स्वास्थ राज्य विरोध समस्या

सीएचसी दरिमा के अधीन स्वास्थ्य कर्मियों को पिछले तीन माह से वेतन नहीं, कर्मचारियों में नाराज़गी

अंबिकापुर: अंबिकापुर ब्लाक अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दरिमा के अधीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं उप स्वास्थ्य केंद्र में कार्य करने वाले लगभग डेढ़ सौ स्टाफनर्स,आरएचओ, फ़ार्मासिस्ट लैब टेक्नीशियन, एएनएम , नेत्र सहायक अधिकारी, वार्ड आया वार्ड ब्वाय आदि कर्मचारियों को पिछले तीन माह से वेतन नहीं मिला है, इसका कारण मुख्य रूप से बीएमओ को आहरण एवं संवितरण प्राधिकार पत्र नहीं मिलना बताया जा रहा है, जिससे कारण कर्मचारी आर्थिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित हैं, माह फ़रवरी का वेतन में इनकम टेक्स कटने तथा माह मार्च अप्रेल एवं मई का वेतन नहीं मिलने के कारण स्वास्थ्य कर्मचारी दोहरे आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं, जबकि इनमें से अधिकतर कर्मचारियों ने होम लोन, वाहन लोन या पर्सनल लोन ले रखा है तथा घर का राशन पानी से लेकर बीमारों का इलाज, बच्चों के एडमिशन फीस ट्यूशन फीस आदि आर्थिक ज़रूरतों के लिए ये वेतन पर निर्भर रहते हैं । आहरण एवं संवितरण प्राधिकार पत्र जारी नहीं होने के कारण मेडिकल बिल, यात्रा भत्ता बिल, जीपीएफ एवं पार्ट फ़ाइनल, सातवाँ वेतन का एरियर्स आदि भुगतान भी लंबित है।इस संबंध में स्वास्थ्य कर्मचारियों ने एकदिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन का आयोजन खण्ड चिकित्सा अधिकारी कार्यालय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फुंदुरडिहारी अंबिकापुर में किया ,जिसमें स्वास्थ्य कर्मचारियों नें विभागीय अधिकारियों के विरूद्ध जमकर नारेबाज़ी की, स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि पिछले दिनों एक बैठक का आयोजन किया गया था जिसमें वेतन नहीं तो काम नहीं का प्रस्ताव पारित किया गया था, जिसे आदर्श आचार संहिता प्रभावी होने तक स्थगित किया गया है, इस संबंध में चार जून तक वेतन नहीं मिलने पर पाँच जून से ‘’काम बंद कलम बंद’’ अनिश्चितकालीन हड़ताल किये जाने का निर्णय लिया गया है इस धरना प्रदर्शन में छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रांतीय, संभागीय, जिला एवं ब्लॉक स्तरीय पदाधिकारी भी सम्मिलित हुए। उपस्थित सभी कर्मचारियों ने वेतन नहीं मिलने, सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों को एक साल से कार्य आधारित वेतन नहीं मिलने, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में कर्मचारियों को साल भर से ग्रुप इंसेटिव नहीं मिलने तथा पल्स पोलियो कार्यक्रम का इंसेंटिव, मच्छरदानी वितरण का इंसेंटिव, टीबी एवं कुष्ठ सर्वे का इंसेंटिव, आयुष्मान कार्ड बनाने का इन्सेंटिव,कोविड वैक्सीनेसन का इंसेंटिव, सिकलिंग जाँच का इंसेंटिव, आयुष्मान योजना का इंसेंटिव, नेत्र ज्योति योजना का इंसेंटिव भुगतान लंबित है को लेकर भारी नाराज़गी व्यक्त की गई एवं चार जून तक वेतन, भत्ते एवं इंसेटिव नहीं मिलने पर 5 जून 2024 से सारे काम बंद करने का निर्णय लिया गया है ।इस अवसर पर प्रांतीय महामंत्री अनिल कुमार पाण्डेय,प्रांतीय उपाध्यक्ष अब्दुल ज़ाकिर, तूफ़ान अली, जिला अध्यक्ष धनेश प्रताप सिंह, ब्लाक अध्यक्ष हेमंत कुमार मरावी,लक्ष्मी बैरागी, मिथलेश यादव, श्याम दास, अजय गुप्ता इकराम फिरदौसी, पूजा सोनी किरण सोनी,सीता सोनी,ऋषिकेश कुशवाहा, प्रमोद पैकरा,बालकृष्ण पैकरा,प्रेम केरकेट्टा, संजय राजवाडे, अजय सिंह,हीराधन टेकाम, डा.विजय शंकर पांडेय, सुरेश राजवाड़े, सोनल गुप्ता, दुलारी शर्मा,अभिषेक एक्का, प्रेम प्रकाश कुशवाहा, मक़सूद आलम,हेमन्त यादव, शाहिद इकराम, शेखर गुप्ता, आदि कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *