28 May 2024
सरगुजा कलेक्टर विलास भोस्कर संदीपन की विशेष पहल…. 28 मार्च से NEET-24 के लिए निःशुल्क आवासीय कोचिंग होंगी प्रारंभ… मेधावी हैं तथा आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण महंगे कोचिंग संस्थाओं में कोचिंग नहीं ले पाते उन्हें मिलेगा अवसर
आयोजन ख़बर जरा हटके राज्य शिक्षा

सरगुजा कलेक्टर विलास भोस्कर संदीपन की विशेष पहल…. 28 मार्च से NEET-24 के लिए निःशुल्क आवासीय कोचिंग होंगी प्रारंभ… मेधावी हैं तथा आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण महंगे कोचिंग संस्थाओं में कोचिंग नहीं ले पाते उन्हें मिलेगा अवसर

अंबिकापुर.सरगुजा कलेक्टर विलास भोस्कर संदीपन के विशेष पहल से आगामी 28 मार्च से NEET-24 के लिए निःशुल्क आवासीय कोचिंग प्रारंभ किया जा रहा है। योजना का मुख्य उद्देश्य सरगुजा जिले के शासकीय विद्यालयों में कक्षा 12वीं जीव विज्ञान संकाय में अध्ययनरत् विद्यार्थी अथवा 2023 में कक्षा 12वीं उत्तीर्ण ऐसे विद्यार्थी जो मेधावी हैं तथा आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण महंगे कोचिंग संस्थाओं में कोचिंग नहीं ले पाते उन्हें अवसर प्रदान कराना है। विद्यार्थियों का चयन जिले के विद्यालयों से किया जाना है प्रत्येक हायर सेकेण्डरी विद्यालय के प्राचार्यों से ऐसे विद्यार्थियों की सूची मांगी गई है जिन विद्यार्थियों की समझ भौतिक, रसायन एवं जीव विज्ञान में अच्छी हो एवं जिन्होंने NEET-24 के लिए आवेदन / पंजीयन कराया हो। कोचिंग में भौतिक, रसायन एवं जीव विज्ञान विषय का अध्यापन कराया जाना है इस हेतु जिले के विशेषज्ञ शिक्षकों का चयन कर लिया गया है। कोचिंग में प्रत्येक दिवस भौतिक, रसायन, वनस्पति विज्ञान, जीव विज्ञान की कक्षाओं का नियमित संचालन विषय विशेषज्ञ शिक्षकों द्वारा किया जायेगा एवं सप्ताहिक आंकलन परीक्षा का आयोजन किया जाना है एवं प्रतिदिन विद्यार्थियों के लिए विषय से संबंधित शंका समाधान हेतु सायंकाल डाउट क्लास का संचालन किया जाना है। कोचिंग हेतु अधिकतम छात्र संख्या 150 होगा। कोचिंग में ऐसे विद्यार्थियों को भी शामिल किया जाना है जिन्होनें वर्ष 2023 में कक्षा 12वीं उत्तीर्ण किया हो एवं इस वर्ष पुनः NEET की परीक्षा में शामिल हो रहे हैं ऐसे विद्यार्थी अपना पंजीयन सीधे कार्यालय राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान शा०बहु० उ०मा०वि० परिसर अम्बिकापुर में आगामी 26 मार्च 2024 तक करा सकते हैं। इस हेतु विशेष पिछड़ी जनजाति, अनुसूचित जन जाति एवं अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को प्राथमिकता के आधार पर शामिल किया जाएगा। कुल 150 विद्यार्थियों में 75 बालक एवं 75 बालिकाएं शामिल रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *