28 May 2024
मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में एनएमसी के दिशानिर्देशों के तहत सी.पी.आर पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन…अस्पताल अधीक्षक आर सी आर्या ने इस पहल पर व्यक्त की अपनी संतुष्टि
Uncategorized

मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में एनएमसी के दिशानिर्देशों के तहत सी.पी.आर पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन…अस्पताल अधीक्षक आर सी आर्या ने इस पहल पर व्यक्त की अपनी संतुष्टि

मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में एनएमसी के दिशानिर्देशों के तहत सी.पी.आर पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन…अस्पताल अधीक्षक आर सी आर्या ने इस पहल पर व्यक्त अपनी संतुष्टि

अम्बिकापुर।आज एनेस्थीसिया विभाग आर.एस.डी.के.एस जी.एम.सी. चिकित्सालय अंबिकापुर ने एनएमसी के दिशानिर्देशों के तहत सी.पी.आर पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।एनेस्थीसिया विभाग (आर.एस.डी.के.एस जी.एम.सी) ने शिशु रोग ओ.पी.डी एमसीएच भवन में सी.पी.आर पर एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम में विशेषज्ञों द्वारा बुनियादी सी.पी.आर. विभिन चरणों का प्रदर्शन शामिल था। बेहतर समझ के लिए डॉ. वसीम फिरोज (एस आर. एनेस्थिसियोलॉजी) ने प्रोजेक्टर द्वारा ऑडियो और वीडियो दोनों माध्यमों से .सी.पी.आर के चरणों के बारे में विस्तार से बताया।
कार्यक्रम में डॉ. आर सी आर्या, सर अस्पताल अधीक्षक, संपूर्ण प्रबंधन टीम के साथ डीएमएस,एएमएस और डॉ अविनाशी कुजूर (एचओडी) स्त्री रोग,डॉ. बी.आर. सिंह (एच.ओ.डी) ई.एन.टी विभाग, कॉलेज के अन्य विभागो के अध्यापकगण ,
सहायक नर्सिंग अधिकारी, अस्पताल सलाहकार, नर्सिंग स्टाफ,एम.बी.बी.एस (यूजी.पीजी) मेडिकल छात्र, डायटिशियन और, मरीज के रिश्तेदार बड़ी संख्या मे शामिल हुए। इस् कार्यक्रम का उद्देश्य सी.पी.आर ( कार्डियो पुल्मनरी रीससिटेशन) के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना और उपस्थित लोगों को सीपीआर चरणों की बुनियादी जानकारी प्रदान करना था, यह कार्यक्रम आज दिनांक 06-12-2023 को सुबह 9:30 बजे से प्रारम्भ हुआ जो 10:30 बजे तक समाप्त हुआ जिसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।
अस्पताल अधीक्षक आर सी आर्या ने इस पहल पर अपनी संतुष्टि व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम समय पर चिकित्सा हस्तक्षेप के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने में काफी मदद करते हैं… आम आदमी में सी.पी.आर का ज्ञान होना जरूरी है ताकी मरणासन्न व्यक्ति की गोल्डन समय मे जान बचाया जा सके। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजन में एनेस्थीसिया विभाग के प्रयासों की भी सराहना की।कार्यक्रम में उपस्थित एच.ओ.डी. एनेस्थीसिया डॉ. मधुमिता मूर्ति और उनके अधीनस्थों ने समय पर चिकित्सा हस्तक्षेप के महत्व पर जोर दिया और उपस्थित लोगों से सी.पी.आर के महत्व के बारे में प्रचार करने का आग्रह किया।
यह जागरूकता कार्यक्रम बेहद सफल रहा, और उपस्थित लोग सी.पी.आर के महत्व की एक नई समझ के साथ वापस गये आर.एस.डी.के.एस. सम्बध् अस्पताल के एनेस्थीसिया विभाग विभिन्न चिकित्सा हस्तक्षेपों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए भविष्य में इसी तरह के और कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बना रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *