21 May 2024
माझी जनजाति के लोगों को 5 महीने बीत जाने के बाद भी राशन का वितरण नहीं…ग्रामीण पहुंचे कलेक्ट्रेट, फूड अफसर से की शिकायत,,,भाजपा नेता गोपाल सिन्हा ने कहा,, कार्रवाई नहीं हुई तो करेंगे चक्का जाम
अनियमितता आरोप राज्य समस्या

माझी जनजाति के लोगों को 5 महीने बीत जाने के बाद भी राशन का वितरण नहीं…ग्रामीण पहुंचे कलेक्ट्रेट, फूड अफसर से की शिकायत,,,भाजपा नेता गोपाल सिन्हा ने कहा,, कार्रवाई नहीं हुई तो करेंगे चक्का जाम

अम्बिकापुर।सरगुजा जिले के उदयपुर विकासखंड में माझी जनजाति के लोगों को सरकार द्वारा दिए जाने वाला राशन पिछले 4 से 5 महीने बीत जाने के बाद भी वितरित नहीं हो सका है। ग्रामीण मजदूरी कर राशन खरीद कर अपना जीवन यापन कर रहे है। गुस्साए ग्रामीण जिला मुख्यालय अंबिकापुर के खाद्य अधिकारी के कार्यालय पहुंचे और अपनी समस्याओं से अवगत

क राया।

जानकारी के अनुसार उदयपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत पेंड्रखी के आश्रित ग्राम पहाड़ कोरजा में 100 से अधिक सदस्य निवासरत है. जहां 34 राशन कार्डधारियों को पिछले 4 से 5 महीनों का राशन वितरण नही किया गया है. वही ग्रामीणों ने राशन दुकान संचालक पर राशन नहीं देने का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले कई महीनों से टालमटोल कर राशन का वितरण नहीं किया जा रहा है. जिससे उन्हें मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करने को मजबूर है। नाराज ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय के खाद्य अधिकारी के पास इसकी शिकायत की। ग्रामीणों का नेतृत्व कर रहे हैं भाजपा नेता गोपाल सिन्हा ने कहा कि ग्राम पहाड़ कोरजा ऐसा गांव है जहां आज तक एंबुलेंस तक नहीं जा पाती। बीमार लोगों को आज भी खाट से लेकर आना पड़ता है। यहां के ग्रामीणों को विगत 4 माह से खाद्यान्न नहीं मिल रहा है। इसकी शिकायत सहायक फूड अफसर से की गई है। श्री सिन्हा ने खाद्यान्न वितरण में भ्रष्टाचार का भी आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि अगर कार्यवाही नहीं होती है तो ग्रामीणों के साथ चक्का जाम किया जाएगा।

संचालक के स्टॉक की जांच करने दिए हैं निर्देश-भगत

जिले के सहायक खाद्य अधिकारी जागेश्वर राम भगत ने बताया कि उदयपुर विकासखंड से आए ग्रामीणों द्वारा पिछले कई महीनों से राशन नहीं मिलने की शिकायत की गई है. जिसकी जांच के लिए तत्काल खाद्य निरीक्षक के द्वारा राशन दुकान संचालक के स्टॉक की जांच करने के निर्देश दिए गए हैं. जिसमें दोषी पाए जाने पर दुकान संचालक के ऊपर कार्यवाही करने की बात कही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *