27 May 2024
महिला उत्पीड़न को लेकर समाज सेवी वंदना दत्ता ने कही बड़ी बात…स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने वालों को तब तक मॉफ नहीं करना है जब तक उसे गलती का एहसास ना हो जाये
आयोजन राज्य शिक्षा

महिला उत्पीड़न को लेकर समाज सेवी वंदना दत्ता ने कही बड़ी बात…स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने वालों को तब तक मॉफ नहीं करना है जब तक उसे गलती का एहसास ना हो जाये

महिला उत्पीड़न पर संत हरकेवल शिक्षा महाविद्यालय में कार्यशाला का आयोजन

अम्बिकापुर। संत हरकेवल शिक्षा महाविद्यालय, अम्बिकापुर, सरगुजा (छ.ग.) में महिला उत्पीडन कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में वदना दत्ता, ममता अवस्थी,शिल्पा पाण्डेय का आगमन हुआ। कार्यक्रम की शुरुवात गणेशस्तुति की गई। मुख्य अतिथियों एवं प्राचार्य डॉ. अंजन सिंह एवं समस्त सहायक प्राध्याको के सरस्वती माता के समक्ष द्वीप प्रज्जवलन एवं सरस्वती वदना से किया गया। प्राचार्य द्वारा मुख्य अतिथियों का पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथियों के स्वागत में बीए द्वितीय वर्ष की छाध्यापिकाओं द्वारा स्वागत गीत गाकर स्वागत किया गया। मुख्य अतिथि वंदना दत्ता ने अपने वक्तव्य में कहा की स्वाभिमान को
ठेस पहुंचाने वालों को तब तक मॉफ नहीं करना है जब तक कि उसे गलती का एहसास ना हो जाये, व सावधानी से बड़ा कोई सुरक्षा नहीं है, निडरता से रहना है। तत्पश्वात ममता अवस्थी ने बी एड प्रथम वर्ष के छात्राध्यापकों से पूछा की आप लोगों के साथ कोई महिला उत्पीड़न तो नहीं हुई है। तत्तपश्चात छात्राध्यापकों ने बताया की उनके साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ। उसी के साथ ममता अवस्थी ने कहा की महिलाये हो या पुरुष हो उनके संविधान का गलत फायदा नहीं उठाना है।
अगली कड़ी में शिल्पा पाण्डेय ने कहा की महिलाओं को महिलाओं का सम्मान करना चाहिए।
कार्यक्रम के अंतिम कड़ी में प्राचार्य डॉ. अंजन सिंह ने उपस्थित समस्त अतिथियों एवं प्रशिक्षार्थियों को संकल्प दिलाया की सब स्त्री एवं पुरुष वर्ण एक दूसरे को सम्मान करेगें। एवं इस कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को जागरूक करेंगें। कार्यक्रम की अंतिम कड़ी में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. अंजन सिंह के द्वारा उपस्थित मुख्य अतिथियों को धन्यवाद प्रेषित कर राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।
यह कार्यक्रम प्राचार्य डॉ. अंजन सिंह के मार्गदर्शन एवं सहायक प्राध्यापक पूजा दुबे, रानी पाण्डेय, सुमन पाण्डेय, नीरू त्रिपाठी, चंदा सिंह, स्तुति मिश्रा, एवं नयनतारा विश्वकर्मा के नेतृत्व एवं बी.एड. प्रथम वर्ष एवं बी.एड. द्वितीय वर्ष के प्रशिक्षार्थियों की सहभागिता से सम्पन्न हुआ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *