28 May 2024
नव निर्वाचित विधायक राजेश अग्रवाल द्वारा छत्तीसगढ़ विधानसभा में पूछे गये पहले प्रश्न पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष आदित्येश्वर ने की टिप्पणी….कहा..फोर लेन रोड के निर्माण में 30 से अधिक घर और दुकानों को तोड़ा जाना था…बाय पास का प्रस्ताव लखनपुर नगरवासियों की सहमति सेपूर्व विधायक ने दिया…विधानसभा में झूठा वक्तव्य देना निंदनीय कार्य
आरोप बयान राजनीति राज्य

नव निर्वाचित विधायक राजेश अग्रवाल द्वारा छत्तीसगढ़ विधानसभा में पूछे गये पहले प्रश्न पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष आदित्येश्वर ने की टिप्पणी….कहा..फोर लेन रोड के निर्माण में 30 से अधिक घर और दुकानों को तोड़ा जाना था…बाय पास का प्रस्ताव लखनपुर नगरवासियों की सहमति सेपूर्व विधायक ने दिया…विधानसभा में झूठा वक्तव्य देना निंदनीय कार्य

अम्बिकापुर/जिला पंचायत उपाध्यक्ष आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने अंबिकापुर के नव निर्वाचित विधायक राजेश अग्रवाल द्वारा छत्तीसगढ़ विधानसभा में पूछे गये पहले प्रश्न पर टिप्पणी करते हुए कहा है कि पहला प्रश्न पूछते हुए अति उत्साह में विधायक राजेश अग्रवाल ने एक गंभीर त्रुटि करते हुए एक झूठा वक्तव्य सदन में दिया है, विधायक ने कहा कि अम्बिकापुर के पूर्व विधायक एवं पूर्व मंत्री ने एक घर को बचाने के लिए लखनपुर में फोर लेन सड़क नहीं बनने दिया। आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने कहा है कि मैं नवनिर्वाचित विधायक राजेश अग्रवाल को अवगत कराना चाहूँगा की फोर लेन रोड के निर्माण में *30 से अधिक घर और दुकानों को तोड़ा जाना था*। वहीं ⁠फोर लेन रोड बनने से भारी वाहन लगातार शहर के बीच से चलते और सड़क दुर्घटना होने की संभावना भी लगातार बनी रहती और इस कारण से बाय पास का प्रस्ताव लखनपुर नगरवासियों की सहमति से दिया गया। एनएच के अधिकारियों के अनुमान के अनुसार लखनपुर शहर से फोर लेन सड़क ले जाने हेतु पट्टे की ज़मीन का अधिग्रहण करना होता, जिसका आर्थिक भार अधिक था और तकनीकी रूप से बाय पास बनाना बेहतर विकल्प है इसलिये ऐसा किया गया। इन सभी बातों पर गौर करते हुए सभी स्थितियों का विश्लेषण कर ही एनएचआई ने फोर लेन शहर में नहीं बनाने का निर्णय लिया है।

जिला पंचायत उपाध्यक्ष आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने कहा है कि नवनिर्वाचित विधायक राजेश अग्रवाल से मैं कुछ सवाल करना चाहता हूँ:

1. क्या सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितीन गड़करी जी जिनका हम सब सम्मान करते है, इतने ही योग्य हैं की एक घर को बचाने के लिए उन्होंने लखनपुर के फोर लेन को रोकने का निर्णय ले लिया और स्वयं पत्र लिख कर पूर्व मंत्री टी एस सिंह देव को सूचित भी किया ? ⁠

2. ⁠क्या एनएचआई केंद्र सरकार के अधीन आता है? अगर हा, तो फिर भाजपा के किसी भी नेता ने इस विषय को निर्माण के समय क्यों नहीं उठाया?

आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने नवनिर्वाचित विधायक राजेश अग्रवाल से पूछा है कि ⁠क्या यह सड़क आपके दुकान के सामने है ? अगर हाँ तो निर्माण के समय आपका ध्यान इस पर क्यों नहीं गया और भाजपा की केंद्र सरकार से इस पर कोई पहल क्यों नहीं की ? या यह मुद्दा सिर्फ़ आपको टिकट मिलने के बाद ही उत्पन्न हुआ?
जिला पंचायत उपाध्यक्ष आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने कहा कि विधायक राजेश अग्रवाल विधान सभा में विज़न की बात करते हैं। किन्तु मैं उन्हें बताऊं कि यह टी एस सिंह देव का विज़न ही था की लखनपुर शहर के बीच से तेज ट्रक ना चलें और लखनपुर बाय पास का निर्माण किया जाये। उन्हीं का विज़न है जिसके चलते पिछले साल के एन.एच. के एनुअल प्लान में *मनेंद्रगढ़ रोड में स्टेशन तक फोर लेन* बनाने, *रामानुजगंज रोड में शंकरघाट तक फोर लेन* बनाने, ⁠*लखनपुर बाईपास* एवं *⁠रामानुजगंज रोड से रायगढ़ रोड तक अंबिकापुर बाईपास* के प्रस्ताव भेजे गये थे।
जनहित और भविष्य को ध्यान में रखते हुए लिए गये निर्णय को तुच्छ राजनीति के उद्देश्य से धूमिल करना और विधानसभा में झूठा वक्तव्य देना निंदनीय कार्य है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *