21 May 2024
जहां छत्तीसगढ़ ही नहीं झारखंड से भी आते हैं बड़ी संख्या में सैलानी… आज उस पलटन घाट की असामाजिक तत्वों ने की दुर्दशा… सड़क पर शराब की बोतलों को तोड़कर बिखेर दिया… प्रशासन को होना होगा गंभीर
ख़बर जरा हटके राज्य

जहां छत्तीसगढ़ ही नहीं झारखंड से भी आते हैं बड़ी संख्या में सैलानी… आज उस पलटन घाट की असामाजिक तत्वों ने की दुर्दशा… सड़क पर शराब की बोतलों को तोड़कर बिखेर दिया… प्रशासन को होना होगा गंभीर

रामानुजगंज (विकास केशरी)। बलरामपुर रामानुजगंज जिले के प्रमुख पिकनिक स्पॉट में एक पलटन घाट उपेक्षा का शिकार वर्षों से हो रहा है। असामाजिक तत्वों के द्वारा पलटन घाट की दुर्दशा कर दी गई है जहां पलटन घाट पहुंच मार्ग के पूरे सीसी रोड में शराब की बोतलें तोड़ कर बिखेर दिया गया है वही पहुंच मार्ग के दोनों और गंदगी भी फेंक दी गई है जिसस यहा प्रतिदिन आने वाले लोग शर्मिंदा एवं परेशान है। पलटन घाट की नैसर्गिक सुंदरता को बचाने के लिए प्रशासन को गंभीरता से इस ओर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। यहां छत्तीसगढ़ के साथ-साथ झारखंड के भी बड़ी संख्या में सैलानी प्रतिदिन आते हैं।

रामानुजगंज की सीमा से करीब 1 किलोमीटर दूरी पर वाड्रफनगर रोड में स्थित पलटन घाट में छत्तीसगढ़ विभिन्न शहरों से बड़ी संख्या में लोग जहां पिकनिक मनाने पहुंचते हैं वहीं पलटन घाट झारखंड के रंका, गढ़वा, डाल्टनगंज सहित झारखंड के अन्य शहर के लोगों के लिए पिकनिक के रूप पहली पसंद रहता है। पहली बारिश के बाद से ही कनहर नदी में पानी आने के बाद यहां घूमने आने वालों का तांता लग गया है वही असामाजिक तत्वों की द्वारा यहां फैलाई गंदगी लोगों को परेशान कर रही है पलटन घाट पहुंच मार्ग के पूरे सीसी रोड में शराब की बोतल तोड़ कर बिखेर दिए गए हैं वहीं सीसी रोड के दोनों और गंदगी का ढेर है जो यहां आने वाले लोगों को शर्मिंदा एवं परेशान कर रहा है।

नैसर्गिक खूबसूरती को लगा ग्रहण स्थानीय लोग जाने से कर रहे हैं परहेज

पलटन घाट में फैली गंदगी के कारण स्थानीय लोग जहां पलटन घाट जाने से परहेज कर रहे हैं वही जो बाहरी लोग जान जा रहे हैं कि यहां चारों ओर गंदगी का आलम फैला है तो वह भी नहीं आना चाह रहे है। गंदगी ने पलटन घाट की नैसर्गिक खूबसूरती को ग्रहण लगा दिया है।

रंग-बिरंगे पत्थरो की अद्भुत श्रृंखला आकर्षित करती है सैलानियों को

पलटन घाट की खूबसूरती देखते बनती है जो यहां पहली बार आता है वह पलटन घाट की खूबसूरती देखकर मंत्रमुग्ध हो जाता है यहां रंग-बिरंगे पत्रों की अद्भुत श्रृंखला सैलानियों को आकर्षित करती है। बड़े-बड़े पत्थरों के बीच से कन्हर नदी का कल कल बहने का अद्भुत दृश्य लोग देखकर आनंदित होते हैं।

पिकनिक मनाने आने वालों का सिलसिला हुआ प्रारंभ जनवरी तक आना रहेगा जारी

कन्हर नदी में पानी आने के बाद यहां पिकनिक मनाने आने वालों का सिलसिला जारी हो गया प्रतिदिन यहां लोग पिकनिक मनाने आ रहे हैं वही दिसंबर एवं जनवरी माह में सबसे अधिक भीड़ रहती है 1 जनवरी को तो पलटन घाट में जनसैलाब उमड़ पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *