27 May 2024
इस निर्वाचन पहाड़ी कोरवा मतदाताओं के अधिक से अधिक मतदान पर रहा फोकस, सफलता भी मिली….सरगुजा जिले में सात मतदान केंद्र पीवीटीजी वोटरों पर केंद्रित, इन मतदान केंद्रों में अन्य मतदाताओं के अलावा दर्ज पहाड़ी कोरवा मतदाताओं द्वारा कहीं 100% तो कहीं 95 प्रतिशत से ज्यादा हुई वोटिंग
चुनाव जागरूकता राज्य

इस निर्वाचन पहाड़ी कोरवा मतदाताओं के अधिक से अधिक मतदान पर रहा फोकस, सफलता भी मिली….सरगुजा जिले में सात मतदान केंद्र पीवीटीजी वोटरों पर केंद्रित, इन मतदान केंद्रों में अन्य मतदाताओं के अलावा दर्ज पहाड़ी कोरवा मतदाताओं द्वारा कहीं 100% तो कहीं 95 प्रतिशत से ज्यादा हुई वोटिंग

जागरूकता अभियान के साथ आवागमन हेतु निःशुल्क मतदाता रथ की सुविधा रहे असरकारक….

लुण्ड्रा के मतदान केंद्र गंझाडांड में अन्य मतदाताओं के अलावा विशेष पिछड़ी जनजाति के 100 मतदाता दर्ज, सभी 100 पहाड़ी कोरवा मतदाताओं ने किया वोट, अम्बिकापुर के घंघरी और सीतापुर के पेटला पीवीटीजी आदर्श मतदान केंद्र में भी दर्ज पहाड़ी कोरवा मतदाताओं द्वारा शत-प्रतिशत मतदान…

अंबिकापुर…जिले में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विलास भोसकर की विशेष पहल पर पहाड़ी कोरवा बसाहटों में विशेष मतदाता जागरूकता अभियान चलाए गए थे। जिसका उद्देश्य पहाड़ी कोरवा मतदाताओं को लोकतंत्र के पर्व में अधिक से अधिक संख्या में सहभागी बनाना रहा। वे अपने मताधिकार के महत्व को समझें और मतदान जरूर करें। इसके लिए जागरूकता अभियानों में नुक्कड़ नाटक, जागरूकता गीत, कलेक्टर की मतदाता के नाम चिट्ठी, न्योता चावल, सहित विभिन्न प्रयास किए गए। समय समय पर कलेक्टर स्वयं भी लोगों को मतदान के प्रति जागरूक करने पहुंचे। जिसका परिणाम हुआ कि जिले में पहाड़ी कोरवा मतदाताओं पर केंद्रित मतदान केंद्रों में बड़ी संख्या में पहाड़ी कोरवा जनजाति के मतदाताओं द्वारा मतदान दर्ज किया गया है।
सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग सरगुजा ने बताया कि हर विकासखंड में एक मतदान केंद्र पहाड़ी कोरवा मतदाताओं पर केंद्रित रहा। विशेष कार्ययोजना के तहत यहां मतदान शत प्रतिशत दर्ज करने का प्रयास किया गया। उन्होंने बताया कि लुण्ड्रा के मतदान केंद्र गंझाडांड मतदान केंद्र में अन्य मतदाताओं के अलावा विशेष पिछड़ी जनजाति के 100 मतदाता दर्ज हैं। यहां जागरूकता की मिसाल कायम करते हुए सभी 100 पहाड़ी कोरवा मतदाताओं ने मतदान किया है। पीवीटीजी आदर्श मतदान केंद्र घंघरी में पहाड़ी कोरवा मतदाता 59 हैं, यहां भी पहाड़ी कोरवा मतदाताओं का मतदान पूर्ण हो चुका है। पहाड़ी कोरवा आदर्श मतदान केंद्र पेटला सीतापुर में भी अन्य मतदाताओं के अलावा दर्ज 52 पहाड़ी कोरवा मतदाताओं ने शत प्रतिशत मतदान कर लिया है।

उदयपुर के पहाड़ी कोरवा आदर्श मतदान केंद्र मरेया में भी दर्ज पहाड़ी कोरवा वोटर द्वारा वोटिंग पूर्ण हो चुकी है। यहां दर्ज 48 पहाड़ी कोरवा मतदाताओं में 45 ने मतदान किया है और 03 पलायन कर चुके हैं। इस तरह यहां भी पहाड़ी कोरवा मतदाताओं का मतदान पूर्ण हो चुका है। बतौली के पीवीटीजी आदर्श मतदान केन्द्र मुरताडांड में 127 में से 123 पहाड़ी कोरवा मतदाताओं द्वारा मतदान कर लिया गया है। यहां 04 मतदाता पलायन कर चुके हैं। इसी तरह पीवीटीजी मतदान केंद्र क्रमांक 236 लोसंगी में अन्य मतदाताओं के अलावा 51 पहाड़ी कोरवा वोटर दर्ज है। जिनमें से 48 पहाड़ी कोरवा वोटरों ने अब तक मतदान किया। 03 गांव से बाहर हैं। मैनपाट के पीवीटीजी आदर्श मतदान केन्द्र 109 कुनिया-2 में अन्य मतदाताओं के अलावा 54 पहाड़ी कोरवा वोटर दर्ज है। जिनमें से 50 पहाड़ी कोरवा वोटरों ने अब तक मतदान किया। 04 गांव से बाहर हैं।

पहाड़ी कोरवा मतदाताओं को मतदान के लिए प्रोत्साहित करने जागरूकता अभियान के साथ ही आवागमन हेतु निःशुल्क मतदाता रथ की भी सुविधा उपलब्ध कराई गई और स्थानीय प्रशासनिक टीम द्वारा घर-घर जाकर मतदान अवश्य करने की अपील भी की गई। पीवीटीजी आदर्श मतदान केन्द्रों के अलावा खाला स्थित मतदान केन्द्र में 107 पहाड़ी कोरवा वोटर्स में से 102 वोटर्स ने वोट किया है।

मतदान दिवस पर पहाड़ी कोरवा मतदाताओं ने साझा किए अपने अनुभव –
मैनपाट के ग्राम मुसख़ोल के 70 वर्षीय पहाड़ी कोरवा श्री लोया ने विशेष पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा केन्द्रित आदर्श मतदान केंद्र 109 कुनिया-2 में उत्साह के साथ अपना मतदान किया। विशेष पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा से आने वाले अशोक की उम्र 25 साल है। पहाड़ी कोरवा बाहुल्य बसाहट खाला स्थित मतदान केन्द्र में आज उन्होंने वोट दिया। अशोक ने बताया कि वोटिंग के लिए मतदान रथ की सुविधा उन्हें मिली। साथ ही मतदान केंद्र में पानी, टेंट, पंखा एवं चिकित्सा की सुविधा भी उपलब्ध है। उनके गांव में उन्हें कलेक्टर की चिट्ठी एवं मतदान न्योता के पीले चावल भी मिले थे। इन सब बातों से वे वोटिंग के प्रति रोमांचित थे और उन्होंने निर्णय लिया कि विपरीत मौसम में भी वे अपना वोट अवश्य देंगे और अपने परिवार, मित्र एवं गांव के लोगों को भी वोटिंग के लिए प्रेरित करेंगे।
इसी तरह पहाड़ी कोरवा जनजाति से आने वाली 20 साल की दिलमानी ने मतदान केंद्र गंझाडांड में पहली बार वोटिंग की। उन्होंने मताधिकार को एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी बताया और सभी से मतदान अवश्य करने की अपील की। उदयपुर के मतदान केंद्र बकोई में बड़ी संख्या में मतदान करने भेलवाडांड के पहाड़ी कोरवा मतदाता पहुंचे। उन्होंने मतदान केन्द्र पर उपलब्ध सुविधाओं पर संतोष जताया और खुशी से मतदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *