21 May 2024
अपने जान की चिंता किए बिना भीषण आग के बीच पहुंच चार लोगों की प्राण रक्षा करने वाले अनरव को मिला राज्य वीरता पुरस्कार….राज्यपाल के हाथों मिला सम्मान,गौरववपूर्ण उपलब्धि से अरनव के स्वजन और परिचित उत्साहित
आयोजन राज्य सम्मान

अपने जान की चिंता किए बिना भीषण आग के बीच पहुंच चार लोगों की प्राण रक्षा करने वाले अनरव को मिला राज्य वीरता पुरस्कार….राज्यपाल के हाथों मिला सम्मान,गौरववपूर्ण उपलब्धि से अरनव के स्वजन और परिचित उत्साहित

अंबिकापुर । दीपावली की रात अंबिकापुर के स्वच्छता चेतना पार्क में लगी भीषण आग के बीच अपनी चिंता न करते हुए चार लोगों को जगाकर प्राण रक्षा करने वाले अरनव कुमार सिंह को इस वर्ष का राज्य वीरता पुरस्कार मिला। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन ने अनरव को वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया।

महिला एवं बाल विकास मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े की अध्यक्षता में चयन समिति की बैठक में अरनव कुमार सिंह को राज्य वीरता पुरस्कार के लिए चयनित किया गया था। अरनव सिंह मूलतः उदयपुर सरगुजा के रहने वाले है। वर्तमान में वे कैरियर प्वाईंट वर्ल्ड स्कूल बिलासपुर में कक्षा 11 वीं में पढ़ाई करते हैं।अरनव सिंह के पिता सुरेश कुमार सिंह अंबिकापुर के लक्ष्मीपुर में नारायण मूर्ति पेट्रोल पंप का संचालन करते हैं। उनकी माता सुमन सिंह शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय उदयपुर में व्याख्याता के पद पर कार्यरत हैं।बीते 12 व 13 नवंबर 2023 की रात अंबिकापुर स्वच्छता चेतना पार्क तथा मणिपुर थाना के डंपिंग यार्ड में भीषण आग लगने पर अरनव सिंह की सूझबूझ एवं बहादुरी से कई लोगों के जान की रक्षा हुई थी। सड़क किनारे खड़े छोटे-बड़े सैकड़ों वाहनों, गैराज तथा थाना भवन मणिपुर की सुरक्षा हो सकी थी। राज्य वीरता पुरस्कार के लिए अरनव सिंह के नाम की अनुशंसा सरगुजा के पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने की थी। इस गौरववपूर्ण उपलब्धि से अरनव के स्वजन और परिचित उत्साहित है।

स्वास्थ्यगत परेशानी की चिंता न कर दूसरों की बचाई जान

घटना स्थल पर आग के साथ दूषित धुंआ भी तेजी से फैल रहा था। घटना स्थल के पास कई मोटर गैराज हैं तथा वहां आस-पास कई गाड़ियां भी खड़ी हुई थी। कई छोटी बड़ी दुकाने भी थी। डपिंग यार्ड के रिसाइकिल सेंटर में चौकीदार सो रहा था। गैराज में भी कुछ लोग सो रहे थे। इस दौरान आसन्न खतरे को देखते हुए अपनी जान की परवाह न करते हुए अरनव सिंह , माता-पिता के मना करने के बावजूद स्वच्छता पार्क के मुख्य गेट को फांदकर अंदर गया था। कचरा प्लास्टिक, थर्माकोल एवं वेस्ट मटेरियल के जलने के कारण धुंजा काफी जहरीला हो गया था एवं सांस लेने में दिक्कत होने के बावजूद (प्रदूषण से एलर्जिक अस्थमा होने के कारण) लगातार दरवाजा खटखटाया और प्रशासन का सहयोग लेकर राहुल नामक चौकीदार को सुरक्षित बाहर निकलवाया। इसी दौरान जमाल डीजल गैरेज में सो रहे तीन व्यक्ति फैजान रजा , असरद रजा एवं एक ट्रक चालक के जीवन की रक्षा में भी अपना सहयोग दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *